हिंदी पखवाड़ा (1-14 सितम्बर, 2016) का प्रतिवेदन

राजभाषा के प्रचार-प्रसार एवं उत्तरोतर विकास के लिये 14 सितम्बर को भारत वर्ष में हिंदी दिवस के रूप में मनाते है। इसी कड़ी में राष्ट्रीय व्यावसायिक स्वास्थ संस्थान, अहमदाबाद द्वारा हिंदी के प्रगामी प्रयोग को बढ़ाने हेतु हिंदी पखवाड़ा दिनांक 1 सितम्बर से 14 सितम्बर 2016 तक आयोजित किया गया।
हिंदी पखवाड़े का शुभारंभ संस्थान के वैज्ञानिक 'एफ' डॉ. एच. जी. साधु के कर कमलों द्वारा दिनांक 1 सितम्बर 2016 को अक्षर से शब्दी लेखन प्रतियोगिता का आयोजन कर किया गया। इस प्रतियोगिता का आयोजन संस्थाजन के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के हिंदी शब्द कोश में वृद्धि करने के उद्देश्य से किया गया। इसमें कुल 42 प्रतिभागियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। इसमें 20 विभिन्न अक्षर दिए गए थे जिससे शब्द बनाने थे। यह बताते हुए हमें अत्यंसत हर्ष हो रहा है कि हिंदीत्तर भाषी वर्ग के प्रतिभागियों ने भी 300 से अधिक शब्दों को लिखकर इस प्रतियोगिता के ध्येय को परिपूर्ण किया।
दिनांक 2 सितम्बर 2016 को संस्थान के अधिकारियों/कर्मचारियों की हिंदी लेखन क्षमता एवं विषय पर ज्ञान को विकसित करने हेतु निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में स्वच्छ भारत अभियान, जलवायु परिवर्तन भारत के परिप्रेक्ष्य में, व्यावसायिक सरोगेसी पर रोक कितनी सही?, भारत में ई-गवर्नेस: अवसर एवं चुनौतियां तथा राष्ट्र निर्माण में महिलाओं का सशक्तिकरण जैसे सम-सामयिक विषय रखे गए। इस प्रतियोगिता में कुल 26 प्रतिभागियों ने हर्षोल्लास के साथ भाग लिया। प्रतियोगिता के उद्देश्य के अनुसार संस्थामन के अधिकारियों/कर्मचारियों की हिंदी लेखन क्षमता एवं सामयिक विषय पर ज्ञान को सफलतापूर्वक परखा गया।
कार्यालय में उपयोगी विभिन्न पत्र व्यवहार में हिंदी के उपयोग को प्रोत्साहित करने हेतु दिनांक 06 सितम्बर 2016 को टिप्पीण एवं मसौदा लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें कुल 17 प्रतिभागियों ने भाग लिया।
दिनांक 07 सितम्बर 2016 को श्रुत लेखन प्रतियोगिता के माध्यम से इस कार्यालय के कर्मियों की हिंदी लेखन शुद्धता को विकसित करने का प्रयास किया गया। प्रतियोगिता में कुल 31 प्रतिभागियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।
कंप्यू टर पर यूनिकोड के माध्यम से हिंदी टंकण प्रतियोगिता ने कंप्यूटर में हिंदी टंकण कार्य को बहुत ही सुगम बना दिया है । दिनांक 9 सितम्बर 2016 को कंप्यूटर पर यूनिकोड के माध्यम से हिंदी टंकण प्रतियोगिता इस उद्देश्य से आयोजित की गई कि संस्थान के अधिकारियों/कर्मचारियों की हिंदी टंकण ज्ञान की शुद्धता एवं टंकण गति को विकसित किया जा सके। 300 शब्दों के एक पैराग्राफ को 10 मिनट में टंकण करने हेतु दिया गया था जिसमें कुल 30 प्रतिभागियों ने आनंदपूर्वक भाग लिया।
हिंदी पखवाड़े के दौरान वित्त वर्ष 2016-17 की द्वितीय तिमाही (जुलाई–सितम्बर) में दिनांक 8 सितम्बर को "एक दिवसीय तकनीकी हिंदी कार्यशाला" का आयोजन किया गया जिसमें अतिथि वक्ता के रूप में अंतरिक्ष उपयोग केंद्र, अहमदाबाद से श्री दिनेश अग्रवाल, वरिष्ठथ वैज्ञानिक, प्लाज़्यमा अनुसंधान संस्थान, गांधीनगर से डॉ. सूर्यकांत गुप्ता, अभियंता 'एस एफ' एवं श्री राजसिंह, अभियंता 'एस जी' तथा केन्द्रीय विद्यालय गांधीनगर से श्री पवन कुमार शर्मा, राजभाषा अधिकारी को आमंत्रित किया गया जिन्होंरने क्रमश: तकनीकी लेखन में सरल हिंदी का प्रयोग एवं अंतरिक्ष कार्यक्रम की झलकियां, हिंदी में तकनीकी या वैज्ञानिक लेखन एवं अन्य कार्य करने के लिए सरल उपाय एवं लाभ, आधुनिक जैव प्रौद्योगिकी में प्लाखज़्ेमा तकनीक का योगदान तथा तकनीकी कार्यों में पारिभाषिक शब्दावली एवं व्यावहारिक व्याकरणीय समस्या एवं समाधान नामक विषयों पर अपने व्याखान दिए। संस्थान के कुल 32 तकनीकी अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने इस कार्यशाला में हिस्सा लिया।
सांस्कृतिक कार्यक्रम भारत के संस्कृति का अभिन्न अंग है और कवि समाज को शिक्षित एवं वास्तविकता से परिचय कराता है। इस कड़ी में हिंदी पखवाड़ा के अंत में दिनांक 14 सितम्बर 2016 को हिंदी हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें नई दिल्ली से पधारे सम्मानीय कविगण श्री रामकिशोर उपाध्याय, श्री ओमप्रकाश शुक्ला, श्री सुरेश पाल वर्मा, अहमदाबाद से आमंत्रित कवि श्री हरिवदन भट्ट, श्री भावेश भट्ट, श्री भावीन गोपानी, डॉ. एल.जे. भागिया तथा वड़ोदरा से पधारे श्री रितेश त्रिपाठी ने अपनी मौलिक हिंदी एवं गुजराती हास्य कविताओं/गजलों का वाचन कर श्रोताओं को मंत्रमुग्धि कर दिया। श्रोताओं ने आपके द्वारा हिंदी एवं गुजराती भाषा में सुनाई गई हास्य कविताओं/गजलों की सराहना करते हुए समय-समय पर तालियों की गड़गड़ाहट से उनका अभिवादन किया।
दिनांक 14 सितम्बरर 2016 को अपरान्ह 3.00 बजे हिंदी पखवाड़े का समापन समारोह आयोजित किया गया जिसमें मुख्ये अतिथि के रूप में बीएसएनएल के पूर्व सहायक निदेशक (राजभाषा) श्री हरिवदन भट्ट को आमंत्रित किया गया। पखवाड़े का समापन समारोह का शुभांरभ संस्थान के वैज्ञानिक 'एफ' डॉ. एच.जी. साधु के स्वागत भाषण द्वारा किया गया। तत्पश्चात हिंदी पखवाड़ा के आयोजन समिति के समन्वयक एवं वैज्ञानिक 'सी' डॉ. लोकेश शर्मा ने हिंदी पखवाड़ा आयोजन का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। मुख्य अतिथि श्री हरिवदन भट्ट ने हिंदी के संवैधानिक प्रावधानों के बारे में अवगत कराया। इसके बाद संस्था न के प्रभारी निदेशक डॉ. सुनील कुमार ने भारत सरकार के माननीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह द्वारा हिंदी दिवस के अवसर पर देशवासियों को दिए गए संदेश का वाचन कर अध्यक्षीय उद्बोधन दिया। समापन समारोह का संचालन संस्थान के कनिष्ठ हिंदी अनुवादक श्री आर.एम. पोरवाल ने किया। अंत में संस्थानन के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी श्री एस.के. गौतम ने उपस्थित महानुभावों का आभार व्यक्त कर कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया।